Captain Amrinder Singh Biography – कैप्टन अमरिंदर सिंह की जीवनी

 Captain Amrinder Singh Biography – कैप्टन  अमरिंदर सिंह की जीवनी किसी जमाने में राजीव गांधी के सबसे करीबी दोस्तों में गिने जाने वाले अमरिंदर सिंह के सियासत में यह दोस्ती उनके लिए सबसे बड़ी यूएसपी साबित होती रही है । दोनों को करीब से जानने वाले बताते हैं कि अमरिंदर सिंह को सियासत की राहों पर सबसे पहले राजीव गांधी ने हीं चलने को कहा था । अपने स्कूल के दोस्त राजीव गांधी के कहने पर ही अमरिंदर सिंह कांग्रेस पार्टी में शामिल हुए थे और साल 1980 में पहली बार सांसद बने थे ।

Captain Amrinder Singh Biography - कैप्टन  अमरिंदर सिंह की जीवनी
Capton Amrinder Singh

Profile
Name Amrinder Singh
Date of Birth 11 March 1942
Age 76 Year
Profession
(2018)
CM of Punjab, President of Punjab Congress Party 
Father’s Name Yadwinder Singh
Mother’s Name Mohinder Kaur
Nationalty Indian
Income / Year
Hobbies Reading, Writing 

History of Captain Amrinder Singh

लेकिन कांग्रेस पार्टी के साथ उनकी राजनीति पहले दौर में बहुत दिन तक नहीं चली थी । साल 1984 में पंजाब में जब ऑपरेशन ब्लूस्टार हुआ तो राज्य की राजनीति ही बदल गई । अमरिंदर सिंह ने कांग्रेस और लोकसभा दोनों का दामन छोड़ दिया । इसके बाद साल 1985 में अमरिंदर सिंह अकाली दल से जुड़ गए ।

Captain Amrinder Singh Biography – कैप्टन  अमरिंदर सिंह की जीवनी

 राजनीति को आगे बढ़ाने की कोशिश में सफलता भी मिली । सुरजीत सिंह बरनाला की सरकार में उन्हें कृषि मंत्री बनाया गया इस ने उनके भीतर हिम्मत और हौसला दोनों भर दिए । आगे चल कर एक दिन अमरिंदर सिंह को सीएम की कुर्सी भी मिली । तो चलिए जानते हैं कैप्टन अमरिंदर की की पूरी जीवनी और उन के राजनीतिक कैरियर को ।

Captain Amrinder Singh Biography – कैप्टन  अमरिंदर सिंह की जीवनी


कैप्टन अमरिंदर सिंह का जन्म पंजाब के पटियाला में  11 मार्च 1942  को हुआ था । इनके पिता ने इंस्पेक्टर की हैसियत से काम किया । सेकंड वर्ल्ड वॉर में वह सिख रेजिमेंट की तरफ से इटली और वर्मा में भी गए । अमरिंदर सिंह की पढ़ाई लिखाई लॉरेंस स्कूल और दून स्कूल देहरादून में हुई ।

Join Indian Army 
(भारतीय फौज में सेवाएं )

अमरिंदर सिंह ने साल 1963 के नेशनल डिफेंस अकादमी और इंडियन मिलिट्री अकादमी से स्नातक की परीक्षा पास करने के बाद आर्मी जॉइन कर ली ।आर्मी में अमरिंदर सिंह दूसरी बटालियन सिख रेजीमेंट में तैनात थे । इस जूनिट से उनके दादा और पिता भी जुड़े थे । अमरिंदर सिंह ने इंडो तिब्बत बॉर्डर पर करीब 2 साल तक सेवाएं दी थी अमरिंदर सिंह का करियर सेना में काफी छोटा रहा।

 1965 के शुरू में ही उन्होंने सेना से इस्तीफा दे दिया । लेकिन जैसे ही पाकिस्तान से युद्ध शुरू हुआ फिर से अमरिंदर सिंह आर्मी के साथ जुड़ गए । इस युद्ध में अमरिंदर सिंह सिख रेजीमेंट के कैप्टन थे जिस के कारण अमरिंदर सिंह का नाम कैप्टन अमरिंदर सिंह पड़ा ।  पाकिस्तान से युद्ध समाप्त हुआ तो अमरिंदर सिंह ने फिर से इस्तीफा दे दिया ।

Political Career 
(राजनीती में करियर)

अमरिंदर सिंह का सेना में करियर भले ही छोटा रहा लेकिन राजनीति में इन्हें लंबी पारी खेलनी थी ।
इसीलिए अमरिंदर सिंह ने कुछ साल बाद अपना नाता अकाली दल से भी तोड़ दिया । देश 90 के दशक की राजनीति को महसूस करने लगा था पंजाब में भी सियासी और सामाजिक रुप से बहुत कुछ बदलता जा रहा था ।

अमरिंदर सिंह ने अकाली दल से निकलकर अपनी पार्टी बना ली वो साल था 1992 । पार्टी का नाम रखा गया अकाली दल पंथक । यह पार्टी वोह थी जो अकाली दल से काफी अलग थी साल 1992 के बाद यह समय राजनीतिक रुप से अमरिंदर सिंह के लिए बड़ा ही उतार चढ़ाव वाला साल रहा इसके बाद से तीन बार चुनाव हुए जिस में अमरिन्दर सिंह को अच्छा होने की उम्मीद थी लेकिन इस मे उनका रंग लोगो के वीच काफी फीका पड़ गया ।


1997 में विधानसभा चुनाव में भी अमरिंदर सिंह की हार हुई इसके बाद फिर से कांग्रेस के साथ वापस जाने के अलावा उनके पास कोई चारा नहीं बचा था । उन्होंने साल 1998 में पाला बदलकर खुद को फिर से कांग्रेस के साथ खड़ा कर लिया । बावजूद इसके अमरिंदर सिंह के हाथ सफलता नहीं लगी और वह लोकसभा चुनाव में पटियाला सीट से कांग्रेस के टिकट पर अमरिंदर सिंह चुनाव हार गए।

President of Punjab Congress
(पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष )

कांग्रेस पार्टी ने अमरिंदर सिंह को साल 1999 में प्रदेश का अध्यक्ष बना दिया । 1999 से लेकर 2002 तक वह अध्यक्ष के रूप में काम करते रहे । चुनाव हुआ तो पंजाब में कांग्रेस की जमीन काफी मजबूत हो गई थी प्रदेश में कांग्रेस को जबरदस्त जीत मिली । पंजाब में सरकार बनी अमरिंदर सिंह सीएम की कुर्सी पर बैठने के सबसे प्रबल दावेदार बताने में सफल रहे वह पहली बार पंजाब के cm बन गए ।

Controversy’s About Captain Amrinder Singh
(कैप्टन अमरिंदर सिंह से जुड़े विवाद )

अमरिंदर सिंह विवादों में साल 2008 में आए जब एक जमीन के लेनदेन के मामले में हुई गड़बड़ी को लेकर विधानसभा की स्पेशल कमेटी से बर्खास्त कर दिए गए । 2010 में सुप्रीम कोर्ट ने इसे गैर संवैधानिक बताया इसके बाद कांग्रेस पार्टी ने फिर से उन्हें पंजाब कांग्रेस का अध्यक्ष बना दिया ।

इस के बाद वह दूसरी वार विवादों में तब आए जब वह दूसरी वार CM बने और अपनी दोस्त अरूसा आलम को सरकारी रिहायश और सरकारी सभी सरकारी सहूलियत देने पर उन की पार्टी के कुछ लोगो ने ही एतराज़ जताया । जिस के बाद काफी समय तक मीडिया में अरूसा को लेकर विवाद चलता रहा ।

Captain Amrinder Singh Biography – कैप्टन  अमरिंदर सिंह की जीवनी

अमरिंदर सिंह ने पंजाब में कांग्रेस के लिए जमीन तैयार करने की कोशिश की जिससे विधानसभा चुनाव जीत हासिल हो सके । 2014 में पूरे देश में मोदी लहर चल रही थी बावजूद इसके अमरिंदर सिंह ने अमृतसर सीट से अरुण जेटली को चुनाव हरा दिया ।

 साल 2017 में पंजाब विधानसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी को अमरिंदर सिंह की अगुवाई में फिर से जीत हासिल हुई । तो CM अमरिंदर सिंह को ही बनाया गया । जिस के बाद उनोह ने अमृतसर लोक सभा सीट से अस्तीफा दे दिया ।

Captain Amrinder Singh Family 
( कैप्टन अमरिंदर सिंह का परिवार )

अगर हम अमरिंदर सिंह के परिवार की बात करें तो उनके पिता का नाम यादविंदर सिंह और माता का नाम मोहिंदर कौर है । इन की पत्नी का नाम परनीत कौर और इन के 2 बच्चे हैं जिन में लड़के का नाम रानिन्दर सिंह और लड़की का नाम जय इंद्र सिंह है ।अमरिंदर सिंह की पत्नी भी लोकसभा सांसद है यूपीए-2 सरकार में उनकी पत्नी रणनीतिक और भारत सरकार की मिनिस्ट्री ऑफ एक्सटर्नल अफेयर्स में भी काम कर चुकी है । साल 2014 में उनकी पत्नी को पटियाला सीट से हार का सामना करना पड़ा था ।

Captain Amrinder Singh Books 
कैप्टन अमरिंदर सिंह की किताबें 


अमरिंदर को लिखना बहुत अच्छा लगता है अपनी किताबों में उन्होंने युद्ध और सिख इतिहास के बारे में बहुत कुछ लिखा है । अमरिंदर सिंह की लिखी किताब को राजनीतिक दलों से जुड़े लोगों ने काफी पसंद किया है । उनकी किताब Captain Amarinder Singh: The People’s Maharaja: An Authorized Biography   काफी चर्चा में रही।

Captain Amrinder Singh Biography - कैप्टन  अमरिंदर सिंह की जीवनी
Capton Amrinder Singh

 पंजाब की सियासत में आने वाले दिनों में भी अमरिंदर सिंह कांग्रेस के लिए रामबाण का काम करने वाले हैं । ऐसे में जब देश में कुछ राज्यों में कांग्रेस की सरकार है पंजाब में कांग्रेस का पताका फहराने वाले अमरिंदर सिंह से पार्टी को 2019 के लोकसभा चुनाव में काफी उम्मीदें होंगी ।

Captain Amrinder Singh Biography – कैप्टन  अमरिंदर सिंह की जीवनी

कैप्टन अमरिंदर सिंह को  राजनीतिक भविष्य के लिए हमारी तरफ ढेरों शुभकामनाएं । आप को हमारा लेख कैसा लगा हमे कमेंट करके जरूर बताएं । अगर आप आने वाले सभी लेखों की जानकारी अपने ईमेल के माध्यम से पाना चाहते हैं तो नीचे सब्सक्राइब बॉक्स में अपनी ईमेल id डाल कर सब्सक्राइब कर सकते हैं ।
2 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *